गिरफ्तार IAS अधिकारी संजय पोपली का आरोप, मेरे बेटे की हत्या हुई है, मैं प्रत्यक्षदर्शी हूं

जहां पुलिस कह रही है कि 27 वर्षीय कार्तिक पोपली की मौत आत्महत्या से हुई, वहीं उसके पिता संजय पोपली ने दावा किया कि उसकी हत्या की गई है।

गिरफ्तार किए गए IAS अधिकारी संजय पोपली ने मेडिकल जांच के बाद मोहाली सिविल अस्पताल से ले जाते समय कहा, “मेरे सामने ही मेरे बेटे की हत्या की गई, मैं अपने बेटे की मौत का चश्मदीद गवाह हूं।”

भ्रष्टाचार के एक मामले में गिरफ्तार संजय पोपली के 27 वर्षीय बेटे की शनिवार को चंडीगढ़ में गोली लगने से मौत हो गई। जहां पुलिस कह रही है कि कार्तिक की मौत आत्महत्या से हुई है, वहीं उसके परिजन साजिश रचने का आरोप लगा रहे हैं.

पंजाब के नवांशहर में सीवरेज पाइप लाइन बिछाने के टेंडर के बदले में रिश्वत मांगने के आरोप में संजय पोपली को गिरफ्तार किया गया है।

विजीलैंस ब्यूरो की टीम नौकरशाह के खिलाफ मामले की जांच के सिलसिले में उनके घर आई थी और घटना के वक्त वे वहां मौजूद थे. छापेमारी के दौरान, वीबी टीम ने कई सोने और चांदी के सिक्के, नकदी, मोबाइल फोन और अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जब्त किए।

पोपली की पत्नी ने मीडिया को बताया कि सतर्कता अधिकारियों ने उन पर झूठे बयान देने के लिए दबाव डाला जो उनके मामले का समर्थन करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.